Ekadashi Vrat Katha Gita Press Hindi PDF

Ekadashi Vrat Katha Gita Press Hindi PDF download free from the direct link given below in the page.

❴SHARE THIS PDF❵ FacebookX (Twitter)Whatsapp
REPORT THIS PDF ⚐

Ekadashi Vrat Katha Gita Press Hindi

एकादशी व्रत एक प्रमुख हिन्दू व्रत है जो हर माह के ग्यारही तिथि को मनाया जाता है। यह व्रत भगवान विष्णु को समर्पित होता है और भक्तगण इसे भक्ति और पापमुक्ति के लिए करते हैं। यह व्रत विभिन्न नामों से जाना जाता है, जैसे कि “कामिका एकादशी,” “मोहिनी एकादशी,” “अपरा एकादशी,” आदि, और इसका महत्व भागवत पुराण में उल्लिखित है।

एकादशी व्रत हर मास के ग्यारही तिथि को मनाया जाता है, जो उस माह के कृष्ण पक्ष की ग्यारही तिथि होती है। एकादशी की रात्रि को भक्त जागरण करते हैं, जिसमें भजन, कीर्तन, और भगवद गीता के पाठ की जाती है। एकादशी व्रत का पालन करने से मान्यता है कि भक्त अपने पापों का प्रायश्चित्त करते हैं और भगवान के कृपा से मोक्ष की प्राप्ति करते हैं। यह व्रत हिन्दू धर्म में महत्वपूर्ण है और भक्त इसे विशेष भक्ति और श्रद्धा के साथ मनाते हैं।

Ekadashi Vrat Katha Gita Press PDF- एकादशी व्रत परिचय

कृष्णचन्द्र अर्जुन से बोले कि एक बार नैमिषारण्य में भगवान श्री शौनक आदि अट्ठासी हजार ऋषि एकत्रित हुये, उन्होंने सूतजी से प्रार्थना की हे सूतजी ! कृपाकर एकादशियों का महात्म्य सुनाने की कृपा करें। सूतजी बोले- हे महर्षियों! एक वर्ष में बारह महीने होते हैं और एक महीने में दो एकादशी होती हैं, सो एक वर्ष में चौबीस एकादशी हुईं। जिस वर्ष में लौंद मास (अधिक मास) पड़ता है, उस वर्ष दो एकादशी और बढ़ जाती हैं। इस तरह कुल छब्बीस एकादशी होती हैं।

एकादशी के दिन प्रात: लकड़ी का दातुन न करें, नींबू, जामुन व आम के पत्ते लेकर चबा लें और उँगली से कंठ सुथरा कर लें, वृक्ष से पत्ता तोड़ना भी ‍वर्जित है। अत: स्वयं गिरा हुआ पत्ता लेकर सेवन करें। यदि यह सम्भव न हो तो पानी से बारह बार कुल्ले कर लें। फिर स्नानादि कर मंदिर में जाकर गीता पाठ करें व पुरोहितजी से गीता पाठ का श्रवण करें। प्रभु के सामने इस प्रकार प्रण करना चाहिए कि ‘आज मैं चोर, पाखण्डी और दुराचारी मनुष्यों से बात नहीं करूँगा और न ही किसी का मन दुखाऊँगा। रात्रि को जागरण कर कीर्तन करूँगा।’

एकादशी व्रत विधि

  • ‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’ इस द्वादश मन्त्र का जाप करें। राम, कृष्ण, नारायण आदि विष्णु के सहस्रनाम को कण्ठ का भूषण बनाएँ। भगवान विष्णु का स्मरण कर प्रार्थना करें कि- हे त्रिलोकीनाथ! मेरी लाज आपके हाथ है, अत: मुझे इस प्रण को पूरा करने की शक्ति प्रदान करना।
  • यदि भूलवश किसी निन्दक से बात कर भी ली तो भगवान सूर्यनारायण के दर्शन कर धूप-दीप से श्री‍हरि की पूजा कर क्षमा माँग लेना चाहिए। एकादशी के दिन घर में झाड़ू नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि चींटी आदि सूक्ष्म जीवों की मृत्यु का भय रहता है। इस दिन बाल नहीं कटवाना चाहिए। न नही अधिक बोलना चाहिए। अधिक बोलने से मुख से न बोलने वाले शब्द भी निकल जाते हैं।
  • इस दिन यथा‍शक्ति दान करना चाहिए। किन्तु स्वयं किसी का दिया हुआ अन्न आदि कदापि ग्रहण न करें। दशमी के साथ मिली हुई एकादशी वृद्ध मानी जाती है। वैष्णवों को योग्य द्वादशी मिली हुई एकादशी का व्रत करना चाहिए। त्रयोदशी आने से पूर्व व्रत का पारण करें।
  • फलाहारी को गाजर, शलजम, गोभी, पालक, कुलफा का साग इत्यादि का सेवन नहीं करना चाहिए। केला, आम, दाख (अंगूर), बादाम, पिस्ता इत्यादि अमृत फलों का सेवन करें। प्रत्येक वस्तु प्रभु को भोग लगाकर तथा तुलसीदल छोड़कर ग्रहण करना चाहिए। द्वादशी के दिन ब्राह्मणों को मिष्ठान्न, दक्षिणा देना चाहिए। क्रोध नहीं करते हुए मधुर वचन बोलने चाहिए।

आप नीचे दिए गए लिंक का उपयोग करके Ekadashi Vrat Katha Gita Press PDF में प्राप्त कर सकते हैं। 

2nd Page of Ekadashi Vrat Katha Gita Press PDF
Ekadashi Vrat Katha Gita Press
PDF's Related to Ekadashi Vrat Katha Gita Press

Ekadashi Vrat Katha Gita Press PDF Free Download

REPORT THISIf the purchase / download link of Ekadashi Vrat Katha Gita Press PDF is not working or you feel any other problem with it, please REPORT IT by selecting the appropriate action such as copyright material / promotion content / link is broken etc. If this is a copyright material we will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

SIMILAR PDF FILES

  • 2022 Calendar with Indian Holidays

    A calendar is a system of organizing days. This is done by giving names to periods of time, typically days, weeks, months and years. A date is the designation of a single, specific day within such a system. A calendar is also a physical record (often paper) of such a...

  • 2023 Calendar Kannada

    2023 Calendar Kannada PDF is published in India specially for those people who speak Kannada. This calendar is one of the most popular in Kannada Panchang around the world. Devotees from Karanataka State will get the full detailed Panchang information like Nakshatra, Vrat, Subh muhurta, Public Holidays & Government Holidays...

  • 2023 Calendar Telugu

    2023 Telugu Calendar PDF showing Telugu festivals and holidays in Andhra Pradesh & Telangana. January corresponds to Pushyam and Magha Masam 2023 of the Telugu calendar. The users who are searching for the Telugu Calendar 2023 can download it here free of cost. The hard copy of this calendar is...

  • 2024 Calendar (മലയാളം കലണ്ടർ) Malayalam

    The 2024 Malayalam calendar PDF, with its fascinating blend of astrology and cultural traditions, is a window into the vibrant tapestry of Kerala’s heritage. From the grandeur of Thrissur Pooram to the beauty of Onam, the festivals celebrated throughout the year offer a glimpse into the soul of the Malayali...

  • 29 States of India and Their Festivals

    Hello, Today we share with you the 29 States of India and Their Festivals PDF, this list contains the month-wise festival details in India celebrates. If you are searching Indian Festival List 2023 in PDF format then you have arrived at the right website and you can directly download it...

  • Andhra Pradesh (AP) Calendar 2022 Telugu

    Andhra Pradesh (AP) Calendar 2022 PDF showing the Telugu festivals and holidays in Andhra Pradesh & Telangana. January corresponds to Margasiram and Pushya masam 2022 of Telugu calendar. Telugu Calendar 2022 January – Tithi, nakshatram, varjyam timing as per Telugu year Sri Plavanama samvatsaram Margasira Bahula Thrayodasi Saturday to Pushya...

  • Bangla Calendar 2023 Bengali

    Bangla Calendar 2023 PDF is also known as the Bangla Calendar or Bong Calendar. Bengali Calendar is based on Solar Calendar. The current Bengali Year is Bengali calendar 1428 BS or Bengali Sambat. In Bangla Calendar the new year starts in the middle of April around 15th of the April....

  • Bengali Calendar 2024

    Bangla Calendar 2024 PDF is also known as the Bangla Calendar or Bong Calendar. Bengali Calendar is based on Solar Calendar. The current Bengali Year is Bengali calendar 1428 BS or Bengali Sambat. In Bangla Calendar the new year starts in the middle of April around 15th of the April....

  • DevUtthanaEkadashiVratKatha

    कार्तिक माह की एकादशी को देवउठनी एकादशी कहा जाता है। देश के विभिन्न क्षेत्रों में स्थानीय रूप से देवोत्थान एकादशी को देवउठनी ग्यारस तथा प्रबोधिनी एकादशी आदि नामों से भी जाना जाता है। हिन्दू धार्मिक मान्यताओं में देवोत्थान एकादशी का अत्यधिक महत्व है। इस दिन किये गए दान – पुण्य...

  • Dry Day in Delhi 2022 List

    Dry days are the days where the government prohibits the sale of of alcohol in shops, clubs, bars, etc on a specific day or date mark a festival or an election day. No one wants to plan a huge party only to end up with disappointment because of a dry...