शुक्र स्तोत्र | Shukra Stotram Hindi PDF

शुक्र स्तोत्र | Shukra Stotram Hindi PDF download free from the direct link given below in the page.

❴SHARE THIS PDF❵ FacebookX (Twitter)Whatsapp
REPORT THIS PDF ⚐

शुक्र स्तोत्र | Shukra Stotram Hindi

शुक्र स्तोत्र पीडीएफ़ का पाठ नियमित करने से शुक्र देव खुश करके पुण्यलाभ अर्जित कर सकते है। आप यह से  शुक्र स्तोत्र हिन्दी पीडीएफ़ मे डाउनलोड कर सकते है या फिर यह से भी पाठ पद सकते हैं।

शुक्र देव को प्रसन्न करने के लिए शुक्र स्तोत्र एक अत्यधिक प्रभावशाली उपाय है। शुक्र स्तोत्र पढ़ने में अत्यन्त ही मधुर है तथा इसके श्लोक अति प्रभवशाली हैं। शुक्र स्तोत्र के पाठ से आपके जीवन में उपभोग की वस्तुओं में वृद्धि होती है।

शुक्र स्तोत्र पाठ in Hindi / Shukra Stotram Lyrics in Hindi

। अथ शुक्रस्तोत्रप्रारम्भः ।

श‍ृण्वन्तु मुनयः सर्वे शुक्रस्तोत्रमिदं शुभम् ।

रहस्यं सर्वभूतानां शुक्रप्रीतिकरं शुभम् ॥ १॥

येषां सङ्कीर्तनान्नित्यं सर्वान् कामानवाप्नुयात् ।

तानि शुक्रस्य नामानि कथयामि शुभानि च ॥ २॥

शुक्रः शुभग्रहः श्रीमान् वर्षकृद्वर्षविघ्नकृत् ।

तेजोनिधिर्ज्ञानदाता योगी योगविदां वरः ॥ ३॥

दैत्यसञ्जीवनो धीरो दैत्यनेतोशना कविः ।

नीतिकर्ता ग्रहाधीशो विश्वात्मा लोकपूजितः ॥ ४॥

शुक्लमाल्याम्बरधरः श्रीचन्दनसमप्रभः ।

अक्षमालाधरः काव्यः तपोमूर्तिर्धनप्रदः ॥ ५॥

चतुर्विंशतिनामानि अष्टोत्तरशतं यथा ।

देवस्याग्रे विशेषेण पूजां कृत्वा विधानतः ॥ ६॥

य इदं पठति स्तोत्रं भार्गवस्य महात्मनः ।

विषमस्थोऽपि भगवान् तुष्टः स्यान्नात्र संशयः ॥ ७॥

स्तोत्रं भृगोरिदमनन्तगुणप्रदं यो

भक्त्या पठेच्च मनुजो नियतः शुचिः सन् ।

प्राप्नोति नित्यमतुलां श्रियमीप्सितार्थान्

राज्यं समस्तधनधान्ययुतां समृद्धिम् ॥ ८॥

। इति शुक्रस्तोत्रं समाप्तम् ।

शुक्र स्तोत्र पाठ विधि और लाभ

  • स्नाादि कर पवित्र हो सफेद या बादामी रंग के कपड़े पहनेें।
  • घर के मंदिर की सफाई करें।
  • पूर्व दिशा की ओर मुंह कर एक सफेद रंग के आसन पर बैठें।
  • फिर शुक्र देव का ध्यान करते हुए उन्हें प्रणाम करें।
  • इसके बाद स्तोत्र का पाठ कर उन्हें सफेद मिठाई का भोग लगाएं।
  • शुक्र स्तोत्र के पाठ से घर में भोग – विलास की वस्तुओं में वृद्धि होती है।
  • इसके प्रभाव से जातक के सौंदर्य में भी वृद्धि होती है।
  • यह स्तोत्र जीवन में मंगल करने वाला है।
  • प्रणय – जीवन में चल रही समस्याओं के लिए भी इसका प्रयोग किया जा सकता है।
  • यदि आपके वैवाहिक जीवन में की कष्ट आ रहा है तो इसके पाठ से आपको शीघ्र ही अच्छा अनुभव होगा।

आप शुक्र स्तोत्र पीडीएफ़ मे डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए लिंक का उपयोग कर सकते हैं।

2nd Page of शुक्र स्तोत्र | Shukra Stotram PDF
शुक्र स्तोत्र | Shukra Stotram
PDF's Related to शुक्र स्तोत्र | Shukra Stotram

शुक्र स्तोत्र | Shukra Stotram PDF Free Download

REPORT THISIf the purchase / download link of शुक्र स्तोत्र | Shukra Stotram PDF is not working or you feel any other problem with it, please REPORT IT by selecting the appropriate action such as copyright material / promotion content / link is broken etc. If this is a copyright material we will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

SIMILAR PDF FILES

  • Shree Mahalakshmi Suprabhatam Sanskrit

    श्री महालक्ष्मी सुप्रभातम देवी श्री महालक्ष्मी को समर्पित सबसे उपयोगी भजनों में से एक है। यदि आप अपने जीवन में स्वास्थ्य, धन और समृद्धि को आकर्षित करना चाहते हैं, तो आपको इस स्तोत्र का प्रतिदिन अपने घर में पाठ करना चाहिए। यदि आप प्रतिदिन इस स्तोत्र का पाठ नहीं कर...

  • गजेंद्र मोक्ष पाठ (Gajendra Moksha Stotra) Hindi

    Gajendra Moksha PDF में डाउनलोड कर सकते हैं नीचे दिए गए लिंक का उपयोग करके। यह प्रसंग श्रीमदभागवत के अष्टम स्कन्द से लिया गया है। गजेंद्र मोक्ष या द लिबरेशन ऑफ गजेंद्र भागवत पुराण के 8 वें स्कंद से एक पौराणिक कथा है, जो हिंदू धर्म में सबसे पवित्र पुस्तकों...

  • गोपाल सहस्त्रनाम – Gopal Sahastranaam Stotram Hindi

    गोपाल सहस्त्रनाम पाठ  PDF करने से श्री कृष्ण भगवन आपके जीवन को खुशियों से भर देते हैं। इसका पाठ आपको सुबह-सुबह नहाने के बाद श्री कृष्णा की मूर्ति के सामने करना चाहिए। धर्म ग्रंथों में भगवान श्रीकृष्ण को प्रसन्न करने के लिए अनेक मंत्र, स्तुति और स्त्रोतों की रचना की...

  • गोपालसहस्त्रनामसंस्कृतमें

    हिन्दू धरम शास्त्रों के अनुसार सुबह जल्दी स्नान करके भगवान् श्री कृष्णा की तस्वीर या मूर्ति के सामने श्री गोपाल सहस्त्रनाम स्तोत्रम् का पाठ करे। सर्व प्रथम भगवान् श्री कृष्णा का आवाहन करें और भगवान् श्री कृष्णा को सर्व प्रथम आसन अर्पित करें। तत्पश्चात पैर धोने के लिए जल समर्पित...

  • चैत्र नवरात्रि व्रत कथा 2022 | Chaitra Navratri Vrat Katha Hindi

    नवरात्रि का त्योहार चैत्र माह में पड़ने से उसको चैत्र नवरात्रि कहा जाता हैं।  नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है। इस साल चैत्र नवरात्रि की शुरुआत 02 अप्रैल 2022, शनिवार से हो रही है, जो कि 11 अप्रैल तक रहेगी। मान्यता है कि नवरात्रि...

  • बटुक भैरव स्तोत्र (Batuk Bhairav Stotra) Sanskrit

    भगवान् बटुक भैरव को समर्पित यह बटुक भैरव स्तोत्र अत्यधिक प्रभावशाली है जिसके श्रद्धापूर्वक पाठ करने से आप अनेक प्रकार की अप्रत्याशित बाधाओं से सुरक्षित रह सकते हैं। श्री बटुक भैरव जी इस पाठ से अति शीघ्र प्रसन्न होते हैं तथा सभी प्रकार की प्रेत बाधाओं से अपने भक्तों की रक्षा करते हैं। ‘शिवपुराण’ में वर्णित प्रसंग के...

  • महालक्ष्मी स्तोत्र | Mahalakshmi Stotram Sanskrit

    श्री महालक्ष्मी स्तोत्र माता लक्ष्मी को समर्पित एक बहुत ही दिव्य स्तोत्र है । यह स्तोत्र बहुत अधिक प्रभावशाली है । यदि आप अपने जीवन में निर्धनता से बहुत अधिक पीड़ित हैं, तो आपको इस दिव्य स्तोत्र का पाठ अपने जीवन में अवश्य करना चाहिए । यदि आप इस स्तोत्र...

  • ललिता सहस्रनाम स्तोत्रम् | Lalitha Sahasranamam Sanskrit

    ललिता सहस्रनाम स्तोत्रम् PDF देवी ललिता को समर्पित एक दिव्य स्तोत्र है जिसका वर्णन ब्रह्माण्ड पुराण में पाया जाता है। देवी ललिता, देवी आदि शक्ति का एक रूप हैं जिनको देवी “षोडशी” एवं देवी “त्रिपुर सुन्दरी” के नाम से भी पूजा जाता है। देवी दुर्गा, काली, पार्वती, लक्ष्मी, सरस्वती तथा देवी भगवती...