सरस्वती माता आरती (Saraswati Mata Aarti) Hindi PDF

सरस्वती माता आरती (Saraswati Mata Aarti) Hindi PDF download free from the direct link given below in the page.

❴SHARE THIS PDF❵ FacebookX (Twitter)Whatsapp
REPORT THIS PDF ⚐

Saraswati Mata Aarti Lyrics - सरस्वती माता आरती Hindi

सरस्वती माता के पूजन स्थल को गंगाजल पवित्र करें। सरस्वती माता की प्रतिमा अथवा तस्वीर को सामने रखकर उनके सामने धूप-दीप, अगरबत्ती, गुगुल जलाएं जिससे वातावरण में सकारात्मक उर्जा का संचार बढ़े। इसके बाद पूजा आरंभ करें।

सरस्वती ध्यान मंत्र

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना। या ब्रह्माच्युतशंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा पूजिता सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा ॥

सरस्वती माता आरती – Saraswati Mata Aarti

जय सरस्वती माता, मैया जय सरस्वती माता।
सद्गुण, वैभवशालिनि, त्रिभुवन विख्याता ।।जय.।।

चन्द्रवदनि, पद्मासिनि द्युति मंगलकारी।
सोहे हंस-सवारी, अतुल तेजधारी।। जय.।।

बायें कर में वीणा, दूजे कर माला।
शीश मुकुट-मणि सोहे, गले मोतियन माला ।।जय.।।

देव शरण में आये, उनका उद्धार किया।
पैठि मंथरा दासी, असुर-संहार किया।।जय.।।

वेद-ज्ञान-प्रदायिनी, बुद्धि-प्रकाश करो।।
मोहज्ञान तिमिर का सत्वर नाश करो।।जय.।।

धूप-दीप-फल-मेवा-पूजा स्वीकार करो।
ज्ञान-चक्षु दे माता, सब गुण-ज्ञान भरो।।जय.।।

माँ सरस्वती की आरती, जो कोई जन गावे।
हितकारी, सुखकारी ज्ञान-भक्ति पावे।।जय.।।

Saraswati Aarti (English)

!! Jai Saraswati Mata, Maiya Jai Saraswati Mata,
Sadgun Vaibhav Shalini, Tribhuvan Vikhyata,
Om Jai Saraswati Mata,Maiya Jai Saraswati Mata !!

!! Chndravadni Padmasini, Dyuti Mangalkari,
Sohe Shubh Hans Savari, Atul Tejdhari,
Om Jai Saraswati Mata, Maiya Jai Saraswati Mata !!

!! Baye Kar Mein Vīna, Daye Kar Mala,
Shish Mukut Mani Sohe, Gal Motiyan Mala,
Om Jai Saraswati Mata, Maiya Jai Saraswati Mata !!

!! Devi Sharan jo aye, Unka Uddhar Kiya,
Paithi Manthara Dasi, Ravan Sanhar Kiya,
Om Jai Saraswati Mata, Maiya Jai Saraswati Mata !!

!! Vidya Gyan Pradayini, Gyan Parkash Bharo,
Moh,  Agyan Aur Timir Ka, Jag Se Nash Karo,
Om Jai Saraswati Mata, Maiya Jai Saraswati Mata !!

!! Dhup Deep Phal Meva, Maa Savikar Karo,
Gyan Chakshu De Mata, Jag Nistar Karo,
Om Jai Saraswati Mata, Maiya Jai Saraswati Mata !!

!! Maa Saraswati Ki Aarti, Jo Koi Jan Gave,
Hitkari Sukhkari, Gyan Bhagat Pave,
Om Jai Saraswati Mata, Maiya Jai Saraswati Mata !!

Download the Saraswati Mata Aarti in PDF format using the link given below.

2nd Page of सरस्वती माता आरती (Saraswati Mata Aarti) PDF
सरस्वती माता आरती (Saraswati Mata Aarti)
PDF's Related to सरस्वती माता आरती (Saraswati Mata Aarti)

सरस्वती माता आरती (Saraswati Mata Aarti) PDF Free Download

REPORT THISIf the purchase / download link of सरस्वती माता आरती (Saraswati Mata Aarti) PDF is not working or you feel any other problem with it, please REPORT IT by selecting the appropriate action such as copyright material / promotion content / link is broken etc. If this is a copyright material we will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

SIMILAR PDF FILES

  • 1000 Samanya Gyan Question Answer Hindi

    अगर आप किसी सरकारी नोकरी की त्यारी कर रहे है तो आपको सामान्य ज्ञान की जानकारी होना बहुत जरूरि है। हर किसी भी इग्ज़ैम में सामान्य ज्ञान के प्रश्न पूछे जाते है और आपको सामान्य ज्ञान के बात होगा तो आप अच्छे नंबर ला सकते हैं। आगामी सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के...

  • 64 योगिनी मंत्र | 64 Yogini Mantra Hindi

    65 योगिनी मंत्र आदिशक्ति मां काली के अवतार हैं। जैसे आपने सुना होगा ये सब अवतार घोर नामक दैत्य के साथ युद्ध के करते समय लिए थे। इन चौंसठ देवियों में से दस महाविद्याएं और सिद्ध विद्याओं की भी गणना की जाती है। ये सभी आद्या शक्ति काली के ही...

  • Aigiri Nandini – अयि गिरि नन्दिनी स्तोत्रम Hindi

    अयि गिरि नन्दिनी स्तोत्रम देवी महात्म्यम पर आधारित है जिसमें मधु का वध करने के लिए देवी दुर्गा, लक्ष्मी और सरस्वती का रूप लेती हैं और कैटभ, महिषासुर, और शुंभ और निशुंभ क्रमशः। कहा जाता है कि इस स्तोत्र की रचना रामकृष्ण कवि ने की थी जिनके बारे में कोई...

  • Balamani Amma Poems Hindi

    बालमणि के मामा कवि थे। उनके पास किताबों का अच्छा-खासा कलेक्शन था। इसी के सहारे बालमणि को कवि बनने में मदद मिली। हालांकि, 19 साल की उम्र में बालमणि अम्मा की शादी हो गई। बालमणि अम्मा के तकरीबन 20 से ज्यादा गद्द और अनुपाद प्रकाशित हुए हैं। उन्हें भारत का...

  • Chitragupta Pooja Katha (चित्रगुप्त पूजा कथा) Hindi

    हिन्दी पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की ​द्वितीया तिथि के दिन चित्रगुप्त पूजा होती है। इस​ दिन को यम द्वितीया भी कहते हैं, जो भाई दूज के नाम से प्रसिद्ध है। इस वर्ष चित्रगुप्त पूजा 6  नवंबर को है। देवताओं के लेखपाल चित्रगुप्त महाराज मनुष्यों के पाप-पुण्य...

  • Devi Atharvashirsha

    This sukta from Atharvaveda is related to (in fact it borrows from) Rigveda, the mantras 1 to 8 of 125th sukta of 10th Adhyaya of the 10th Mandala. This sukta is a link between philosophy and techniques. Yogic techniques do not go very far without proper philosophy. Devi Atharvashirsha –...

  • Diwali Laxmi Puja Vidhi Marathi

    दिवाळी हा सर्वात मोठा सण आहे, हा सण कार्तिक महिन्याच्या अमावास्येला साजरा केला जातो. यावेळी २४ ऑक्टोबर 2022 रोजी दिवाळी साजरी होणार आहे. दिवाळीत लक्ष्मी आणि गणेशाची पूजा केली जाते. दिवाळीत लक्ष्मी आणि श्री गणेशाची पूजा केली जाते. या पोस्टमध्ये दिलेल्या लिंकवर क्लिक करून तुम्ही लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित...

  • Durga Chalisa Lyrics

    Goddess Durga was formed to fight Mahishasura, an evil demon. Brahma, Vishnu, and Shiva combined their powers to make a formidable female form with ten arms. All the gods combined gave Durga a bodily form when she arose as a spirit from the holy Ganga’s waters. Lord Shiva sculpted her...

  • Durga Kavach Gita Press Gorakhpur Hindi

    दुर्गा कवच का पाठ करने से माँ दुर्गा आपके सारे दुखों को मिटा देती है तथा आपको आजीवन खुशाल जीवन जीने की प्रेरणा देती है। दुर्गा सप्तशती कवच हिंदी पीडीएफ में आपको दुर्गा माँ की आरती, पूजा विधि तथा अन्य चीज़े पढ़ने को मिलेंगी। दुर्गा सप्तशती हिन्दू-धर्म का सर्वमान्य ग्रन्थ...

  • Gurucharitra 52 Adhyay (गुरूचरित्र 52 अध्याय) Marathi

    गुरूचरित्र हे मराठीतील एक प्रभावशाली धार्मिक पुस्तक आहे. १५ व्या- १६ व्या शतकात श्री. सरस्वती गंगाधर स्वामींनी हे पुस्तक लिहीले. ह्या ग्रंथाला पवित्र वेद समजतात, म्हणून या ग्रंथाचे पारायण कठोर नियमाने करावे. याचे नियम या ग्रंथातच दिलेले आहेत. हा ग्रंथ सात दिवसांच्या सप्ताहातच किंवा तीन दिवसातच पूर्ण करावा असा नियम...