राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF Hindi

राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध Hindi PDF Download

राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध in Hindi PDF download link is available below in the article, download PDF of राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध in Hindi using the direct link given at the bottom of content.

1 People Like This
REPORT THIS PDF ⚐

राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध Hindi PDF

हैलो दोस्तों, आज हम आपके लिए लेकर आये हैं राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF हिन्दी भाषा में। अगर आप राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध हिन्दी पीडीएफ़ डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह आए हैं। इस लेख में हम आपको देंगे राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध के बारे में सम्पूर्ण जानकारी और पीडीएफ़ का direct डाउनलोड लिंक।

14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने यह निर्णय लिया कि हिन्दी भी केन्द्र सरकार की आधिकारिक भाषा होगी। क्योंकि भारत मे अधिकतर क्षेत्रों में ज्यादातर हिंदी भाषा बोlली जाती थी इसलिए हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का निर्णय लिया और इसी निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है।

इस दिन भारत की संविधान सभा ने हिंदी भाषा को राजभाषा का दर्जा प्रदान किया था तब से इस भाषा के प्रचार और प्रसार के लिए प्रतिवर्ष 14 सितम्बर को हिंदी दिवस मनाने की शुरुआत हुई थी। भारत की संविधान सभा ने 14 सितंबर 1949 को भारत गणराज्य की आधिकारिक राजभाषा के रूप में हिंदी को अपनाया गया था। यहाँ से आप मातृभाषा हिंदी पर निबंध PDF / Hindi Diwas Essay in Hindi PDF मुफ्त में बड़ी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF | Hindi Diwas Essay PDF in Hindi

दुनिया में हर देश की अपनी भाषा है, उसे राष्ट्रभाषा कहते है। हमारे देश भारत की राष्ट्रभाषा हिंदी है। यह हमारे देश में सामान्य संचार की भाषा है। यह हमारे देश की राजभाषा भी कहलाती है। 1947 में स्वतंत्रता प्राप्ति के तुरंत बाद संविधान सभा द्वारा इसे अपनाया गया था। देश में  प्रतिवर्ष 14 सितंबर का दिन हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

देश में राष्ट्रीय एकता को बनाए रखने के लिए भी राष्ट्रभाषा की आवश्यकता होती है। राष्ट्रभाषा को बोलने से मानसिक सन्तोष का अनुभव होता है। हिंदी पूरे विश्व में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाओं में चौथे स्थान पर है। हिंदी की लिपी देवनागरी है, जो कि देवों की लिपी है।

इस भाषा का विशेष रूप से उत्तर भारत में ज्यादा उपयोग होता है। दक्षिण भारत के लोग ज्यादातर अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल करते है, जो हिंदी को ठीक से नहीं समझते हैं। भारत में लाखों लोग अभी भी हिंदी नहीं जानते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि इसमें संस्कृत शब्दों को शामिल करने से इसे कठिन बना दिया गया है।

आज देश में हर जगह पर अंग्रेजी भाषा ने अपना कब्ज़ा जमा लिया है। इसमें कोई शक नहीं है कि अंग्रेजी अंतरराष्ट्रीय बातचीत के लिए जरुरी है लेकिन हिंदी को सिखने के लिए आज बच्चों को सख्ती से मजबूर किया जाता है। हमें अपनी राष्ट्रभाषा को बचाने के लिए कदम उठाने होंगे। हमें हिंदी को सरल बनाना होगा और इसे कठिन संस्कृत संस्करणों से मुक्त करना होगा।

हिंदी हमारी ‘राष्ट्रभाषा’ है

हिंदी भाषा विश्व की प्राचीन, समृद्ध और सरल भाषा होने से साथ-साथ हिंदी हमारी ‘राष्ट्रभाषा’ भी है। हिंदी भाषा विश्व में सबसे अधिक बोली जानें वाली भाषा है। हमारा भारत पश्चिमी रीती-रिवाजों से बहुत ही प्रभावित है। भारतीय लोग वहां के लोगों की तरह पोषक पहनते हैं। भारतीय वहां की जीवन शैली का पालन करते हैं।

हिंदी दिवस का महत्व

हिंदी दिवस को उस दिन को याद करने के लिए मनाया जाता है। जिस दिन हिंदी हमारे देश की आधिकारिक भाषा बन गई थी। इसलिए हिंदी के महत्व पर जोर देने के लिए और हर पीढ़ी के बिच इसको बढ़ावा देने के लिए हर साल हिंदी दिवस मनाया जाता है। यह दिन हर साल हमारी असली पहचान की याद दिलाता है और देश के लोगों को एकजुट करता है। हम चाहे जहाँ भी जाएँ हमारी भाषा, संस्कृति और मूल्य हमारे साथ बरकरार रहने चाहिए।

मातृभाषा हिंदी पर निबंध | Hindi Diwas Essay in Hindi PDF – 10 लाइनें

  • 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • 14 सितंबर 1949 को गांधी जी ने हिन्दी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था।
  • इस दिन संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया की हिन्दी भारत की राजभाषा होगी।
  • हिंदी भाषा को देवनागरी लिपि में भारत की कार्यकारी और राजभाषा का दर्जा आधिकारिक रूप में दिया गया।
  • भारतीय संविधान की धारा 343 (1) में हिन्दी को संघ की राजभाषा और लिपि देवनागरी लिपि का दर्जा प्राप्त है।
  • हिन्दी का इतिहास लगभग एक हजार वर्ष पुराना है।
  • हिंदी हिंदुस्तान की राष्ट्रभाषा ही नहीं बल्कि हिंदुस्तानियों की पहचान भी है।
  • हमें अपनी मातृभाषा हिंदी को कभी नहीं भूलना चाहिए।
  • इस दिन कई सेमिनार, हिन्दी दिवस समारोह आदि कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाता है।
  • आज के दिन हम सभी लोगों को हिंदी गीत सुनने चाहिए और तुलसीदास, मुंशी प्रेमचंद, हरिवंश राय बच्चन द्वारा लिखी कहानियां और कविताएं भी पढ़नी चाहिए।

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर के आप हिंदी दिवस पर निबंध हिंदी में PDF / Hindi Diwas Par Essay/Nibandh Hindi PDF मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं।

राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF - 2nd Page
राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF - PAGE 2

राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF Download Link

REPORT THISIf the purchase / download link of राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF is not working or you feel any other problem with it, please REPORT IT by selecting the appropriate action such as copyright material / promotion content / link is broken etc. If राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध is a copyright material we will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

RELATED PDF FILES

2 thoughts on “राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध

  1. Kisne bola hindi rashtriya bhasha hai ye kb hua or Sirf hindi me hi sanskrit words hai yesa kisne bola Telugu Tamil kannada Malayalam ye kya dusre desh ki bhasha hai or South wale English se jyada apni sanskritik bhasha me baat krte hai apne culture ko hamesha samman dete hai or asli hindu to vo hi hai jo apne hindu culture ko kabhi nai bhule vo hamre bhagwan ko bhi bhut achhe se pujte hai bhut achhe se

Leave a Reply

Your email address will not be published.